आये जाने की -( राइट टू डिसकनेक्ट ) बिल क्या है ?

0
199

आये जाने की -( राइट टू डिसकनेक्ट ) बिल क्या है ?

 

इस बिल में कर्मचारियों को ऑफिस से आने के बाद ऑफिसियल मेल या कॉल का जवाब देने की मज़बूरी से छुटकारा दिलाने के लिए एक अधिकार देने की कोशिश की गयी है | वो ऑफिस से आने के बाद -ऑफिस के किसी भी कॉल का डिसकनेक्ट कर सकते है ये अधिकार इस बिल में उन्हें दिया जा रहा है और इसीलिए इसका नाम ( राइट टू डिसकनेक्ट) रखा गया है | इस बिल के आने के बाद कंपनी अपने कर्मचारी पे ज्यादा काम नहीं लाद सकेंगी | जिससे कर्मचारी भी अपनी पर्सनल लाइफ जी सकेंगे |जिससे कर्मचारी तनाव मुक्त रहेंगे |ये बिल अभी केवल लोकसभा में पेश हुआ है | इसके बाद ये राज्य सभा में पेश होगा और फिर ये कानून बन जायेगा | ऐसा कानून कई देश अपना यहाँ पहले से ही लागु कर चुके है | न्यूयोर्क में कौंसिल ने मार्च २०१८ में ये बिल दिखाया गया और फ्रांस में भी इस बिल का लाने की कवायद चल रही है | ऐसी जो भी कंपनी जिनकी कर्मचारी की संख्या ५० से ज्यादा वर्किंग ऑवर के बाद उनको ये अधिकार होना चाहिए की वो किसी भी ऑफिस वर्क का मना कर सके , किसी भी ऑफिसियल कॉल का डिसकनेक्ट कर सके | इस कानून के अंतर्गत कंपनी का लिखित में अपने कर्मचारियों का नोटिस और रिटेन पालिसी देनी पड़ेगी | ये भी लिख के देना पड़ेगा की कंपनी अपने कर्मचारी का राइट टू डिसकनेक्ट के लिए दण्डित नहीं कर सकती है | आज हर बिल के तरह ये बिल बहुत ही महत्वपूर्ण था | जैसे -जैसे लोगों में चेतना बिकसित हो रही है | हम अपने अधिकारों के लिए सचेत हो रहे है और यही कारण है की सरकार का इस बिल का लाने की जरुरत पड़ी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here