कीटो डाइट ने क्या एक भारतीय अभिनेत्री की जान ले ली ?

0
221
कीटो डाइट

कीटो डाइट और बंगाली अभिनेत्री –

एक बंगाली अभिनेत्री की 27 साल में निधन हो जाता है और इसकी वजह कीटो डाइट बताई जा रही है |ये अभिनेत्री मिष्टी मुखर्जी है जिनके देहांत की खबर 2 अक्टूबर को सबको लगी |बताया जाता है की इनकी मौत का कारण किडनी का फेल हो जाना बताया जा रहा है |और किडनी के फेल होने का कारण कीटो डाइट बताया जा रहा है | क्योकि एक 27 साल की अभिनेत्री को इस तरह से चला जाना अजीब के साथ -साथ रहस्य्मयी भी है | और इसलिए लोगों में ये भी कौतुहल हुआ की आखिर ये कीटो डाइट है क्या की लोग इसे क्यों लेते है |इसका पूरा इतिहास आपको बताते है | क्योकि कोई डाइट अगर आप बिना डॉक्टर के सलाह के लेते है तो वो नुकसान करता ही है | कई ऐसी कम्पनिया है जो इसके बहुत ही भ्रामक प्रचार करते है |

कीटो डाइट और डाइट का अंतर क्या है –

डाइट जैसा नाम से लग रहा है एक तरह का ऐसा भोजन जो आपके शरीर के अनुसार लेना होता है | आपकी हाइट और वेट और उम्र के हिसाब से जो भी भोजन को आपको कोई एक्सपर्ट लेने को कहता है उसे ही डाइट कहते है |ज्यादातर पैसे वाले लोग ऐसे डाइट पर रहते है और बाकायदा एक डायटीशियन अपने साथ लेकर चलते है | जिससे उनकी सेहत परफेक्ट रहे है | ये तो हुई बात केवल डाइट की लेकिन अब बात करते कीटो डाइट की इसमें क्या विशेष है और क्या ये फायदेमंद है या नुक्शानदायक है | कीटो डाइट इस डाइट से लिवर में कीटोन पैदा होता है |जो वजन कम करने में सहायक है | इसमें व्यक्ति को बहुत कम मात्रा वाला कार्बोहाइड्रेट भोजन दिया जाता है |जिससे व्यक्ति के लिवर में तीन तरह के कीटोन जैसे – β-hydroxybutyrate, acetoacetate, and acetone पैदा होते है |

कीटो डाइट में आप क्या लेते है –

कीटो डाइट (3)इस डाइट में आप कार्बोहाइड्रेट नहीं खाते हैं और फ़ैट्स आप बहुत ज़्यादा मात्रा में लेते हैं. इस डाइट में कीटो शेक्स, चीज़, कुछ गिनी चुनी सब्ज़ियां खाते हैं और फल नहीं लेते| प्रोटीन के तौर पर आप चिकन, मटन, फ़िश, नारियल के तेल में स्मूदी का इस्तेमाल करते हैं और भारत में लोग इस डाइट के दौरान चीज़ बहुत खाते हैं जिससे आपके लिवर में कीटोन पैदा होते है और बॉडी कीटोन्स को एनर्जी के रूप में प्रयोग करता है |

कीटो डाइट का लिवर पर प्रभाव –

एक शरीर को 20 ग्राम फैट चाहिए होता है और उसके वेट के हिसाब से प्रोटीन जिसे व्यक्ति 60 किग्रा का है तो प्रोटीन उसे 60 ग्राम लेना होगा और कार्बोहाइड्रेट 50 -60 ग्राम लेना होता है | लेकिन खिलाडियों के इसके इतर भोजन या डाइट लेनी होती है | ये समझने वाली बात ये है की ऐसे शरीर को ऊर्जा कार्बोहाइड्रेट से लेता है | लेकिन जब आप कीटो डाइट पर होंगे तो आप फैट 20 ग्राम से बढ़ाकर 60 से 80 ग्राम तक पहुंच जाता है और शरीर ऊर्जा फैट से लेना लगता है |

कीटो डाइट (4)इससे ये होता है की पहले शरीर केवल 20 ग्राम फैट पचा रहा होता है अब उसे 80 ग्राम फैट पचाना होता है जो लिवर को बहुत मुश्किल होता है एक दिन में इतना फैट पचाना के लिए लिवर और गॉलब्लेडर को कई गुना मेहनत करनी पड़ती है और अगर आपका लिवर कमजोर है तो वो एकदम ही क्रैश हो सकता है और ये महिलाओं पर ज्यादा प्रभाव डालती है |इसलिए कीटो डाइट लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लेने को कहते है |इसका शरीर पर असर बहुत जल्दी दिखने लगता है और व्यक्ति सोचता है की वो बहुत जल्दी पतला हो जायेगा या वजन कम कर लेगा | लेकिन ये उतना ही खतरनाक भी है |

कीटो डाइट और इतिहास –

कीटो डाइट (6)कीटो डाइट का इतिहास भी पुराना है लेकिन 20 सदी तक इसका प्रयोग नहीं था लेकिन प्राचीन लोग पहले उपवास और कई तरह के डाइट फॉलो करते थे ये पहले मिर्गी से प्रभावित बच्चों को ठीक करने के लिए ये ग्रीक में प्रयोग में लिया जाता था |कुछ प्राचीन यूनानी चिकित्सकों ने मिर्गी और कुछ अन्य स्वास्थ समस्या के लिए कुछ खाद्य सामग्री को खाने से मना किया था और फिर ये एक प्रचलन की तरह हो गया है फिर यही कीटो डाइट बना लेकिन पहले ये मिर्गी से प्रभावित बच्चों को ठीक करने के लिए ही था |

बॉलीवुड में ग्लैमर और बाज़ारवाद का दबाव –

कीटो डाइट (5)बंगाली अभिनेत्री मिष्टी मुखर्जी का देहांत हो गया | क्योकि फिल्म इंडस्ट्री और ग्लैमर वर्ल्ड में आपको अपने फिगर और बॉडी को एक्स्ट्रा ख्याल रखना पड़ता है और और हो भी क्यों नहीं क्योकि इस इंडस्ट्री में अपने को बनाया रखना का अब भी बहुत ही बॉडी स्ट्रक्चर बहुत माईने रखता है आप कितने फिट हो और आप कितने ऊर्जावान हो |इसलिए अगर आप थोड़ा सा भी मोटे होते है तो आप तुरंत ही वजन घटाने में लग जाते है और उसके लिए लाखों रूपए भी खर्च करने को तैयार रहते है |क्योकि आपकी तरफ मीडिया का अटैंशन भी बना रहता है जिससे आप थोड़ा भी बुरा नहीं दिखना चाहते कैमरे के सामने और जिससे कभी -कभी आप जल्दी पतले होने के लिए ऐसे क्विक वेट लॉस प्रोग्राम का हिस्सा बन जाते है |

कीटो डाइट से क्या होती है प्रॉब्लम-

ये तुंरत वज़न घटाने के लिए प्रचलित हो गई है और ये दुखद है कि इसे लोग करते हैं, इसे बिल्कुल नहीं किया जाना चाहिए |ये एक चिट फ़ंड स्कैम की तरह है जहां लोगों को तुरंत फ़ायदा दिखाई देता है और उसे ये आमदनी का अच्छा ज़रिया लगता है लेकिन आगे जाकर उसका नुक़सान पता चलता है| ठीक वैसे ही कीटो डाइट तुरंत वज़न कम करने का एक माध्यम दिखाई तो देता है लेकिन उसका शरीर पर कई हानिकारक असर होते हैं.| इससे हार्मोनल गड़बड़ी हो जाती है और गैस्टिक की भी समस्या होती है पाचन की प्रक्रिया भी बेकार हो जाती हैऔर इसलिए बिना किसी डॉक्टर के सलाह के इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए |

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते है:-रोंगटे खड़े क्यों होते है आये जानते है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here