भाला फेककर सोने के लिए लड़ेंगे भारतीय और पाकिस्तानी खिलाडी –

0
153
भाला

भाला फेक और टोकियो का भारतीय सितारा –

भाला फेककर हमारे ‘टायटल’ आप एक बार के लिए चौक गये होंगे। लेकिन आपको बता दे यहाँ -गोल्ड मैडल की बात हो रही है। दिलचस्प बात ये है की इस बार जो फाइनल का मुकाबला होने वाला है वो पाकिस्तानी खिलाडी और भारतीय खिलाडी के बीच होने वाला है।नीरज चोपड़ा का नाम इस समय भारतीय मीडिया और देश में गूंज रहा है।नीरज चोपड़ा एक भारतीय ट्रैक और फील्ड एथलीट प्रतिस्पर्धा में भाला फेंकने वाले खिलाड़ी हैं।

अंजू बॉबी जॉर्ज के बाद किसी विश्व चैम्पियनशिप स्तर पर एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक को जीतने वाले वह दूसरेभारतीय हैं बायडगोसज्च्ज़, पोलैंड में आयोजित 2016 आइएएएफ U20 विश्व चैंपियनशिप में उन्होंने यह उपलब्धि हासिल की।टोकियो ओलिंपिक में भी उन्होंने अपना बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखा है।ओलंपिक भाला फेंक के क्वालिफिकेशन राउंड में भारत के नीरज चोपड़ा पहले नंबर पे रहे।उन्होंने पहले प्रयास में ही 85 से ज्यादा मीटर थ्रो किया।अपने ग्रुप में भी वो टॉप रहे और दोनों ग्रुप मिलाकर भी वही टॉप पर रहे।सबसे रोचक बात ये है कि ग्रुप बी में टॉप किया पाकिस्तान के अरशद नदीम ने जिसका मतलब ये है की फाइनल में नीरज के सामने यही होंगे हालाँकि वे कुल मिलाकर तीसरे नंबर पर रहे। यानी फ़ाइनल में नीरज चोपड़ा के साथ पाकिस्तान के अरशद नदीम भी होंगे और दोनों एक-दूसरे को चुनौती देंगे।

नीरज और नदीम की तस्वीर वायरल होने की कहानी –

जब से दोनों खिलाड़ियों के फ़ाइनल में पहुँचने की ख़बर आई, सोशल मीडिया पर दोनों की एक तस्वीर वायरल हो रही है।ये तस्वीर है 2018 के एशियाई खेलों की।इस तस्वीर में दोनों खिलाड़ियों के बीच गर्मजोशी दिख रही है।उस समय भी वो तस्वीर ख़ूब वायरल हुई थी।2018 एशियाई खेलों में नीरज चोपड़ा ने गोल्ड जीता था,जबकि अरशद नदीम ने कांस्य पदक अपने नाम किया था।लेकिन ये मौक़ा ओलंपिक का है और फ़िलहाल की रैंकिंग देखिए तो नीरज चोपड़ा पहले नंबर पर हैं अरशद नदीम तीसरे नंबर पर फ़ाइनल मुक़ाबला सात अगस्त को खेला जाएगा।अब देखना होगा किसका पलड़ा भारी होता है। भारत और पाकिस्तान हमेशा से चिर -प्रतिदून्दी रहे है।

नीरज का प्रदर्शन –

साल 2016 में ही उन्होंने दक्षिण एशियाई खेलों में 82.23 मीटर के थ्रो के साथ स्वर्ण पदक जीता।इसके बाद साल 2017 में उन्होंने 85.23 मीटर तक जैवलिन थ्रो कर एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भी स्वर्ण पदक जीता।इसी साल जून में नीरज ने पुर्तगाल के लिस्बन शहर में हुए मीटिंग सिडडे डी लिस्बोआ टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक अपने नाम किया।नीरज चोपड़ा इसी साल मार्च में पटियाला में हुई इंडियन ग्रॉ प्री में 88.07 मीटर तक थ्रो कर चुके हैं, जो उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। नीरज ने अगर अपना प्रदर्शन दोहरा दिया तो वो पदक सबसे प्रबल दावेदार है। अब देखना ये है की 7 अगस्त किसको गोल्ड दिलाता है।

अरशद नदीम का प्रदर्शन –

अरशद नदीम ने इसमें आने से पहले कई खेलों में अपना हाथ आजमाया है।लेकिन आख़िरकार उन्होंने एथलेटिक्स को चुना उन्होंने जैवलिन थ्रो से पहले उन्होंने शॉट पुट और डिस्कस थ्रो में भी कोशिश की थी।लेकिन जैवलिन थ्रो में एक बार जमे, तो कई मेडल जीते और पाकिस्तान का नाम रोशन किया।दिसंबर 2019 में साउथ एशियन गेम्स में नया रिकॉर्ड बनाकर अरशद ने सीधे टोक्यो ओलंपिक में जगह बनाई थी। ऐसी उपलब्धि हासिल करने वाले वे पाकिस्तान के पहले एथलीट हैं।अन्य एथलीटों से अलग अरशद की ज़्यादातर ट्रेनिंग पाकिस्तान में ही हुई है उन्हें टोक्यो ओलंपिक से पहले ट्रेनिंग के लिए चीन भेजा गया था।

देखना ये है की गोल्ड किसके हाथ लगता है क्योकि जिस तरह भारतीय टीम ने हॉकी में जोरदार प्रदर्शन किया है उसी तरह लोगों को पूरी उम्मीद है की नीरज भी गोल्ड लेकर आएंगे। लेकिन ये 7 अगस्त को ही पता चलेगा की सोना किसका है।

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते हैं:-वीमेन हॉकी टीम के कबीर खान से मिलते है –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here