मॉर्निंग वुड:सुबह उठाने से पहले आपका पप्पू खड़ा क्यों मिलता है?

0
600
मॉर्निंग वुड

मॉर्निंग वुड कोई समस्या नहीं है –

मॉर्निंग वुड यानी सुबह उठने पर लिंग का खड़ा मिलना एक सामान्य बात हैलेकिन लोग इस बारे में बात करना पसंद नहीं करते है जबकि ये एक शारीरिक क्रिया है लेकिन यहाँ हर बारे में बात करेंगे और जो भी भ्र्म होगा उसे दूर करने की कोशिश करेंगे।हमारा उद्देश्य ये है की आप के सब भ्र्म को दूर किया जाये।सभी लड़कों में किशोरावस्था के बाद ये प्रक्रिया शुरू हो जाती है।जानकारी के अभाव में कुछ लड़के इसके कारण शर्मिंदा महसूस करते हैं जबकि ये उनके स्वस्थ होने की निशानी है।

आमतौर पर मॉर्निंग वुड का कारण सुबह के समय शरीर में बढ़ने वाला टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन को माना जाता है। इसके अलावा भी कुछ अन्य वैज्ञानिक कारण हैं, जो सुबह-सुबह आपके ‘छोटे नवाब’ को सलामी देने के लिए मजबूर करते हैं। आइए आपको बताते हैं मॉर्निंग वुड या नॉक्ट्रल पेनाइल ट्यूमेसेंस (nocturnal penile tumescence) का वैज्ञानिक कारण।

मॉर्निंग वुड सोते समय क्यों होता है –

पुरुषों के निद्रा चक्र (स्लीप साइकिल) का मॉर्निंग वुड एक हिस्सा है।आमतौर पर सोते समय हमारी नींद 2 चक्र से गुजरती है;पहला जब हम सो रहे हैं मगर हमारे मस्तिष्क में विचार पनप रहे हैं, जैसे सपना देखना,और दूसरा जब हम गहरी नींद में होते हैं और विचारशून्य होते हैं।रात में सोते समय एक व्यक्ति 4 से 5 बार एक से दूसरी स्टेज में जाता है।ये प्रक्रियाएं खास न्यूरोट्रांसमीटर्स के द्वारा संदेश भेजने के कारण होती हैं। ऐसा ही एक न्यूरोट्रांसमीटर है, जिसे वैज्ञानिकों ने नोरपाइफ्राइन (norepinephrine) नाम दिया है।

ये न्यूरोट्रांसमीटर लिंग के इरेक्शन को भी कंट्रोल करता है। जब आप गहरी नींद में होते हैं, तब ये न्यूरोट्रांसमीटर सिग्नल भेजना बंद कर देता है और आपका शरीर टेस्टोस्टेरॉन का प्रोडक्शन और इस्तेमाल बढ़ा देता है। यही कारण है कि जब आप गहरी नींद से सोकर उठते हैं, तो आपको आपका लिंग खड़ा मिलता है। आमतौर पर लिंग में ये खड़ापन 15-25 मिनट तक बना रहता है।

मनुष्य के स्वस्थ होने की निशानी भी मॉर्निंग वुड है –

मेडिकल रिसर्च बताती हैं कि एक स्वस्थ पुरुष में सोते समय इरेक्शन की प्रक्रिया 3 से 5 बार तक होती है।अगर किसी व्यक्ति को सुबह उठने के बाद लगातार कई दिनों तक लिंग में खड़ापन नहीं दिखता है, तो ये उसके लिए चिंता की बात हो सकती है।ऐसे व्यक्ति को एक बार डॉक्टर से मिलकर इस समस्या के बारे में बात करनी चाहिए। दरअसल मॉर्निंग इरेक्शन न होना कई बार कार्डियोवस्कुलर बीमारियों का शुरुआती संकेत होता है। आमतौर पर मॉर्निंग इरेक्शन तभी नहीं होता है,जब आपकी रक्त वाहिकाओं में पर्याप्त खून प्रवाहित नहीं हो पाता है।

पप्पू अगर सुबह नहीं खड़ा होता है तो ये एक समस्या है –

यदि आपका लिंग सुबह में खड़ा नहीं होता है तो ये एक समस्या है क्योकि ये रोग भी हो सकता है इसके कई कारण हो सकता है। मोटापे की समस्या की वजह से , और हाई ब्लड प्रेशर और डाइबिटीज़ और मानसिक तनाव , डीप्रेशन की वजह से हो सकता है या कहे कोई दवा का साइड इफ़ेक्ट हो सकता है। कोलेस्ट्रॉल हाई होने पर भी ये समस्या होती है।

यदि आपको तनाव नहीं मिलता है तो आपको कोई अच्छे डॉक्टर से दिखाना चाहिए। क्योकि बाद में आपको बड़ी समस्या हो सकती है।कभी -कभी हमे जो बहुत सामान्य घटना लगती है। वो उतनी सामान्य नहीं होती है। इसलिए शर्म को छोड़कर हमे बेझिझक ही सवालो को पूछना ही चाहिए।क्योकि खुलापन आएगा तभी तो लोग जागरूक होंगे। सेक्स हो या कोई भी फोरप्ले या कोई भी हमारे अन्दुरुनी अंग हो सबका अपना काम बटा है इसमें कोई ऐसा नहीं जो प्राकृतिक न हो। हमारे काम है आपके आँखों के सामने से पर्दा हटाया जाये।अगर आपको हमारे आर्टिकल पसंद आये तो हमे समर्थन दे।

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते है:-वीर्य के बारे में कुछ रोचक जानकारी –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here