वह महिला जिसने पहली बार वन पीस स्विमिंग सूट पहना कौन थी ?

0
297
वन पीस स्विमिंग सूट

वन पीस स्विमिंग सूट या बिकिनी आयी कहा से –

आजकल के दौर में स्विमिंग सूट कि बाढ़ सी आ गयी है |ज़्यदातर हम देखते है कि लोग बीच पर कई तरह के कई रंग के स्विमिंग सूट पहनते है ये एक चलन सा बन गया है |आज उसे बिकिनी भी कहते है और कई तरह कि बिकनी भी बाजार में आने लगी है मिनी बिकनी , मैक्रो बिकिनी , मोनोकोनी इत्यादि | लेकिन ये स्वतंत्रता और इसकी शुरुआत तो किसी ने कि होगी | आज उसी कि बात करेंगे |कि वन पीस स्विमिंग सूट का प्रचलन कब शुरू हुआ और किसने इसकी शुरुआत कि | एनेट मारिए सराह केलरमैन ये वही महिला थी जिनको वन पीस स्विमिंग सूट पहनने कि शुरुआत कि |

एनेट मारिए सराह केलरमैन ट्रॉउज़र को छोड़कर वन पीस स्विमिंग सूट पहना –

वन पीस स्विमिंग सूट (2)

एनेट मारिए सराह केलरमैन ऑस्ट्रेलिया कि एक प्रोफेसनल तैराक थी साथ में वो अभिनेत्री और लेखक भी थी |केलरमैन को ही माना जाता है कि इन्होने ट्रॉउज़र को छोड़कर वन पीस स्विमिंग सूट पहना था |और एक दिन में ये बहुत प्रसिद्धि हुआ और इसका ये असर हुआ कि केलरमैन ने अपना फैशन स्टोर खोल लिया | केलरमैन ने कई फिल्मो में काम किया | उनकी चर्चित फिल्म थी डॉटर ऑफ़ गोड्स थी |वो पहली महिला में शामिल थी जो पर्दे न्यूड प्रदर्शित हुई थी |इन्हे काफी बोल्ड माना जाता था उस समय |

केलरमैन एक म्यूजिशियन कि बेटी –

केलरमैन का जन्म 6 जुलाई १८८७ को न्यू साउथ वेल्स में हुआ था |एक म्यूजिक परिवार में जन्मी अन्नेत्ते मारिए सराह केलरमान के पिता वोइलिन बजाते थे और माता संगीत कि टीचर थी | 6 साल कि उम्र में इनके पैरों में कमजोरी कि वजह से ब्रास के सहारे चलना पड़ता था |इनके माता -पिता इनको तैराकी कि क्लास में इनका दाखिला करवा दिया था जिससे १३ साल कि उम्र पह्चते ही इनका पैर सामान्य हो गया |

वन पीस स्विमिंग सूट (3)

अपनी 15 साल कि उम्र में इन्होने तैराकी कि एक प्रतियोगिता भी जीत ली थी |इसलिए हर चीज कि शुरुआत तो कही से तो होती ही है कम या ज्यादा संघर्ष सबकों करना पड़ता है | ये जानकारी देने का मात्र ये उद्देश्य हमारा है कि समाज में किसी भी चीज कि शुरुआत यूं ही नहीं होती किसी न किसी पहला कदम बढ़ाना पड़ता है |

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते है:-धनतेरस क्यों मनाते है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here