सरोगेट सेक्स थेरेपी क्या है इसे इसराइल अपने सैनिकों को क्यों दे रहा है।

0
446
सरोगेट सेक्स

सरोगेट सेक्स थेरेपी-

सरोगेट सेक्स थेरेपी क्या है और इसे इसराइल अपने सैनिकों को क्यों दे रहा है। पहले तो हमे ये जानना होगा की आखिर ये है क्या और सैनिकों को इसकी जरुरत क्यों पड़ रही है।जैसा की हम जानते है की सेक्स एक आनंद का विषय है।सेक्स जिंदगी का हिस्सा है। लेकिन किन्ही कारणों से जब सैनिक युद्ध में घायल हो जाते है। और उनके कमर का निचला हिस्सा लकवा मर जाता है तो ये थेरेपी दी जाती है।

दुनिया की कई देशों में सरोगेट सेक्स थेरेपी को लेकर विवाद है । इसलिए इसका बहुत ज्यादा इस्तेमाल नहीं होता है लेकिन इसराइल में सैनिकों को सरोगेट सेक्स थेरेपी मुहैया कराने का खर्चा खुद सरकार उठाती है। बुरी तरह घायल और यौन पुनर्वास की जरूरत वाले सैनिकों को यह सुविधा मुहैया कराई जाती है. सरोगेट सेक्स थेरेपी के तहत मरीज के लिए किसी ऐसे शख्स को हायर किया जाता है, जो उसके सेक्स पार्टनर जैसा व्यवहार करे।

सरोगेट सेक्स थेरेपी क्या है?

सेक्स थेरेपी कई मायनों में एक कपल थेरेपी है कई लोग इसे वेश्यावृति की तरह ही देखते हैं। लेकिन इसराइल में इसे इस हद तक मंजूरी मिली हुई है कि सरकार उन घायल सैनिकों के लिए सरोगेट सेक्स थेरेपी का पूरा खर्चा उठाती है, जिनकी यौन क्षमताओं पर चोट का असर पड़ा है। सेक्स थेरेपी सेशन का 85 फीसदी हिस्सा अंतरंगता सिखाता है इसमें अंतरंगता कायम करने के तरीके बताए जाते हैं।उन्हें एक दूसरे के करीब आने, स्पर्श, छूने के तरीके, शारीरिक आदान-प्रदान और अंतरंग संवाद कायम करने के तरीके बताए जाते हैं।

यह प्रक्रिया उस बिंदु पर पूरी हो जाती है, जहां आप यौन संबंध बनाने के लिए तैयार हो जाते हैं। सरकार की ओर से उनके साप्ताहिक सरोगेट सेक्स थेरेपी के सेशन के खर्चे उठाना सही है वह कहते हैं कि जैसे सरकार हमारे पुनर्वास के दूसरे हिस्सों का खर्चा उठाती है वैसे इसका भी खर्च कवर करती है। आज की तारीख में तीन महीने के ट्रीटमेंट प्रोग्राम का खर्चा 5400 डॉलर है।

इसराइल की संस्कृति इसके लिए क्यों मुफीद है –

इसराइल की परिवार केंद्रित संस्कृति और सेना के प्रति इस इसका रवैया उनके पक्ष में काम करता है।18 साल की उम्र तक आते ही ज्यादातर इसराइलियों को आवश्यक मिलिट्री सर्विस के लिए बुला लिया जाता है और वे अधेड़ होने तक रिजर्व सैनिक बने रह सकते हैं। जब से यह देश बना तब से हमेशा युद्ध जैसी स्थिति में ही रहा है। यहां घायल होने वाले या मरने वालों लोगों के बारे में हर किसी को खबर होती हैऐसे लोगों को मुआवजा देने या उनकी क्षतिपूर्ति के बारे में यहां आम जनता का रवैया बड़ा सकारात्मक है।

हम उनके इस रवैये के लिए आभारी हैं।किसी व्यक्ति का आत्मविश्वास लौटाए बगैर आप उसका पुनर्वास नहीं कर सकते।जब तक आप उस शख्स को महिला या पुरुष बरकरार रहने का अहसास नहीं करा देते, तब तक उसे पुरानी जिंदगी में नहीं लौटाया जा सकता।आप हमारी जिंदगी के इस हिस्से को नजरअंदाज नहीं कर सकते. यह काफी अहम है और ताकतवर पहलू है यह हमारे व्यक्तित्व का केंद्रीय हिस्सा है।

आप सिर्फ इसके बारे में बात करके नहीं रह सकते।सेक्सुअलिटी एक डायनैमिक चीज है जिसे हमारे और दूसरे लोगों के बीच होना पड़ता है।आधुनिक समाज ने सेक्स के बार में एक बीमार नजरिया विकसित कर लिया है।हमने सेक्सुअलिटी बारे में मजाक करना सीख लिया है। हमे ये समझना चाहिए की सेक्सुअलिटी जिंदगी है और इसी के जरिये हम पीढ़ी को आगे बढ़ाते है।

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते है:-मेक अप करना कब से शुरू हुआ ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here