सिंगल यूज़ प्लास्टिक है क्या ? और ये बैन हो रहा क्या ?

0
1059
सिंगल यूज प्‍लास्टिक

सिंगल यूज़ प्लास्टिक है क्या ? और ये बैन हो रहा क्या ?

प्‍लास्टिक ऐसी चीज है जो वातावरण के लिए बहुत घातक है | ये पहले तो ये आसानी से ख़तम नहीं हो सकता है | और इससे हमारे पर्यावरण को बहुत नुकसान हो रहा है |इससे पूरा विश्व परेशान है | ऐसे में प्लास्टिक से पैदा होने वाले प्रदूषण को रोकना एक बहुत बड़ी समस्या बनकर उभरी है प्रत्येक साल कई लाख टन प्लास्टिक उत्पादन (produce) हो रहा है, जो कि मिट्टी में नहीं घुलता-मिलता है | सिंगल यूज प्‍लास्टिक करीब 7.5 प्रतिशत की ही रीसाइक्लिंग हो पाती है. बाकी प्लास्टिक मिट्टी में मिल जाती है, जो पानी की सहायता से समुद्र में पहुंचता है और वहां के जीवों को काफी नुकसान पहुंचाता है| अधिकांश प्लास्टिक कुछ समय में टूटकर जहरीले रसायन भी छोड़ते हैं| ये रसायन पानी और खाद्य सामग्रियों के द्वारा हमारे शरीर में पहुंचते हैं और काफी नुकसान पहुंचाते हैं|

सिंगल यूज प्‍लास्टिक

सिंगल यूज़ प्लास्टिक से क्या आशय है –

सिंगल यूज़ प्लास्टिक -नाम से ही पता चल रहा है की ऐसी प्लास्टिक जो केवल एक बार यूज़ होती है | और फिर यूज़ फेक देते है | हमलोग इसे डिस्पोजेबल प्‍लास्टिक भी कहते हैं| ये बहुत मुश्किल से रीसाइक्लिंग होती है | सिंगल यूज प्‍लास्टिक करीब 7.5 प्रतिशत की ही रीसाइक्लिंग हो पाती है|बाकी प्लास्टिक मिट्टी में मिल जाती है, जो पानी की सहायता से समुद्र में पहुंचता है और वहां के जीवों को काफी नुकसान पहुंचाता है हम जयादातर इस प्लास्टिक का यूज़ अपने दैनिक कार्य में करते है |

सिंगल यूज प्‍लास्टिक

 

भारत में २०२२ तक प्लास्टिक मुक्त बनाना प्रधानमंत्री मोदी की योजना –

प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी जी ने २ अक्टूबर – गाँधी जयंती के अवसर पे इसकी शुरुआत करने जा रहे है | और उन्होंने २०२२ तक भारत को प्लास्टिक मुक्त बनाना की योजना है | इस बैन से प्लास्टिक बैग, कप, प्लेट्स, छोटे बोतल और प्लास्टिक से बने दूसरे सामान का इस्तेमाल बंद हो जाएगा| प्रधानमंत्री मोदी ने १५ अगस्त को लाल किले से भी लोगों से अपील की थी प्लास्टिक का कम से कम यूज़ करे | प्रधानमंत्री मोदी बहुत चालक व्यक्ति है | और वो जानते है की कैसे २ अक्टूबर -गाँधी जयंती के दिन ही उन्होंने स्वछता का अभियान छेड़ा था | और ये अभियान बहुत हद तक सफल भी था | उनके इस कदम से लोगों के अंदर जागरण हुआ था | और इस बार सिंगल यूज़ प्लास्टिक अभियान २ अक्टूबर को ही शुरू करने जा रहे है |

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते हैं:एक ऐसा इंसान जिसने न्यूज़ पेपर के टाइटल का सबसे बड़ा कलेक्शन रखा है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here