सीरियल डेटर ने कैसे की 335 डेटिंग –

0
157
सीरियल डेटर

सीरियल डेटर और 365 डेट का लक्ष्य –

सीरियल डेटर नाम से जैसा लग रहा है वैसा ही है।सुंदर रामू जो पिछले कुछ सालों में 335 महिलाओं के साथ डेट कर चुके हैं।लेकिन, अब भी वो अपने लक्ष्य 365 डेट से थोड़े पीछे चल रहे हैं उनका तलाक़ हो चुका है और उन्हें रोमांस से कोई परहेज नहीं है लेकिन फिर भी उनकी सभी डेट रोमांटिक नहीं होती हैं।उनका मक़सद सिर्फ़ प्यार ढूंढना नहीं है।सुंदर रामू एक दशक पहले तमिल और मलयालम फ़िल्मों में आने से पहले थियेटर में भी काम कर चुके हैं उन्हें अभी 365 डेट करने है उन्होंने ये योजना 31 दिसंबर 2014 को फ़ेसबुक पर 365 डेट के प्रोजेक्ट की जानकारी दी थी। उन्हें ‘द डेटिंग किंग’, ‘365 डेटिंग मैन’ और ‘सीरियल डेटर’ जैसे नाम भी दे दिए गए।

365 डेटिंग मैन क्यों बनना चाहते है –

उन्होंने ये सीरियल डेटर की योजना या कहे ये करने की योजना दिसंबर 2012 में हुए दिल्ली गैंगरेप के बाद बनाया। क्योकि ये घटना इनके अंदर से हिला देने वाली थी। वो कई रातों तक सो नहीं पाये थे। और उन्हें इसका एहसास तब और होता जब विदेशी लोग उस घटना के बारे में उनसे पूछते थे। उन्होंने बताया की सुधार के लिए कुछ करना पड़ेगा तब उनके अंदर ये विचार आया की मैं अकेले क्या कर सकता हूँ। तब मेरे अंदर यही विचार आया।

यहीं से ही 365 डेट के विचार ने जन्म लिया।पुरुषों को भी समाधान का हिस्सा बनना होगा।डेटिंग को लेकर उनकी बहुत-सी गलत धारणाएं हैं।महिलाएं सिर्फ़ एक सुंदर शरीर नहीं हैं, हर व्यक्ति एक-दूसरे से अलग होता है।वो कहते है की डेटिंग के दौरान हुई मेरी बातचीत को लिखकर, मैं लोगों को ये बताना चाहता था कि दूसरे जेंडर की स्थितियों को भी जानो और उस पर विचार करो, इस तरह आप उनकी समस्याओं को थोड़ा और बेहतर समझने लगोगे।

कैसे की उन्होंने इतनी डेटिंग –

वो खुद में योजना बनाने लगे को ,और जगह तय करने के बारे में सोचने लगे और खाना के लिए भुगतान करना या खाना बनाना के बारे में भी उन्होंने सोचा।लेकिन कुछ ही मिनटों में उनकी एक दोस्त ने नए साल के लिए उन्हें दिन के खाने पर बुला लिया।उनकी पहली दर्जन डेट्स जान पहचान के लोगों के साथ हुईं।10वीं डेट पर स्थानीय मीडिया में ये स्टोरी आई और फिर उनके पास अनजान निमंत्रण भी आने लगे।

उनका फ़ेसबुक पेज देखने पर उन महिलाओं की कहानियां पता चलती हैं जिनके साथ वे डेट पर जा चुके हैं इन महिलाओं में उनकी 105 साल की दादी भी शामिल हैं।हालांकि, उनका अब निधन हो चुका है।सुंदर रामू के साथ डेट करने वालों में उनके अपार्टमेंट ब्लॉक से कूड़ा उठाने वाली एक महिला, एक 90 साल की आयरिश नन, एक अभिनेत्री, मॉडल, एक योगा टीचर, एक्टिविस्ट, राजनेता और कई अन्य महिलाएं शामिल हैं।

109 साल की भी महिला को किया डेट –

वो कहते है की मैं ऐसे परिवार में पला-बढ़ा हूं जहां महिलाओं को सम्मान दिया जाता था और उनके साथ अच्छा व्यवहार होता था मैं ऐसे स्कूल में गया जहां लड़के और लड़कियों में कोई लैंगिक भेदभाव नहीं था।लेकिन, जब मैंने बाहरी दुनिया में क़दम रखा तो मुझे पता लगा कि लैंगिक भेदभाव की जड़ें कितनी गहरी समाई हुई हैं और ये मेरे लिए किसी झटके से कम नहीं था।

डेटिंग को पश्चिमी सभ्यता से जोड़ा जाता हैप्रोजेक्ट की शुरुआत से अब तक सुंदर रामू कई देशों की महिलाओं के साथ डेटिंग कर चुके हैं इन महिलाओं से वे भारत के विभिन्न शहरों के साथ ही वियतनाम, स्पेन, फ़्रांस, अमेरिका, थाइलैंड और श्रीलंका में मिले हैं। वैसे तो सुंदर रामू अपनी सभी डेट्स को “खास” बताते हैं लेकिन फिर भी एक डेट उनके लिए किसी जादुई अनुभव से कम नहीं है।उनकी ये डेट अपनी दादी के साथ थी जिनका 109 साल की उम्र में दो साल पहले निधन हो चुका है।

सुंदर रामू ने कहा, “मेरी परवरिश एक अलग माहौल में हुई है लेकिन ये सोचना कि पितृसत्ता की गहरी जड़ों वाले एक देश और समाज को मैं बदल सकता हूं, ये खुद से मज़ाक करना है.”लेकिन, मैं मानता हूं कि आपको कहीं से तो शुरुआत करनी होती है ये रातोंरात नहीं होने वाला है इसका कोई तुरंत समाधान भी नहीं है।इसमें कुछ पीढ़ियां लग सकती हैं लेकिन हमें इसे शुरू करना होगा और जारी रखना होगा।

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते हैं:-शिल्पा का पति क्यों हुआ गिरफ्तार ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here