आखिर नया टर्म स्लीप सेक्स क्या है ?

0
557
स्लीप सेक्स (2)

स्लीप सेक्स क्या नींद में चलने जैसा ही है –

स्लीप सेक्स इस टर्म में सेक्स आ गया तो कई लोग बात करना ही कम पसंद करेंगे |लेकिन दुनिया में बदलाव आया है |कई देश पहले से ओपन हुए ये इस सेक्स शिक्षा को लेकर | अगर इन चीजों पे बात नहीं होगी तो ये बातें कैसे सामने आएँगी | अब बात करते है हम स्लीप सेक्स पे -सबसे पहले आपने देखा होगा या सुना होगा की कई लोग नींद में चलते है |नींद में बोलते है और कही कही तो नींद में गाड़ी भी चलाते है |जिस तरह से ये सब एक विकार है उसी तरह स्लीप सेक्स है ये भी एक विकार है जिसमे लोग को नींद में सेक्स करते है |

स्लीप सेक्स को मेडिकल टर्म में सेक्ससोमिया कहते है –

इसे मेडिकल टर्म सेक्ससोमिया कहते है ये परासोमिया का ही एक प्रकार है पैरासोमिया में लोग नींद में असामन्य बेहिवियर करते है |स्लीप सेक्स में व्यक्ति सोते हुए यौन गतिविधयां करता है |इसमें व्यक्ति दवरा सम्भोग , हस्तमैथुन और कई यौन गतिबिधिया की जाती है |ये मेडिकल के क्षेत्र में ऐसा मामला 1986 में दर्ज किया गया था |इस विकार का अध्यन करना बहुत ही मुश्किल है |

स्लीप सेक्स

स्लीप सेक्स के लक्षण –

1-सोते हुए फोरप्ले मेहसूस करना
– यौन क्रिया की तरह आवाजे निकालना –
3 -बिना उत्तेजना के सुख का अनुभव करना
4 – अधिक पसीना आना
5 -सांसों का तेज़ होना
6-नींद में आँखों को खुला और भावहीन होना

इस रोग में पीड़ित व्यक्ति के शादी शुदा जीवन पे बहुत असर पड़ता है | और व्यक्ति भावनात्मक तौर पे कमजोर होने लगता है |ये विकार ज्यादा कम नींद लेने से और नशीली दवाइया लेने से और शराब बहुत ही ज्यादा पीने से होता है |तनाव भी इस रोग में मुख्या कारक होता है |हमने सोचा एक नया टर्म है तो आपको इसके बारे में जागरूक कर दिया जाये |

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते है :-याददास्त कमजोर होना क्या एक बीमारी है ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here