हिंदुस्तान यूनीलिवर ने चेंज क्यों किया अपनी क्रीम का नाम ?

0
711
हिंदुस्तान यूनीलिवर

हिंदुस्तान यूनीलिवर ने -फेयर एंड लवली क्रीम का नाम चेंज क्यों किया ?

हिंदुस्तान यूनीलिवर भारत की 80 साल पुरानी कंपनी है |ये कंपनी भारत के आज़ादी से पहले की कंपनी है ये 1933 से लगातार काम कर रही है | ये FM CG क्षेत्र की नामी कंपनी है |इसका हेड ऑफिस मुंबई में है | इसके बहुत से प्रोडक्ट है भारतीय बाजार में समय की मांग और हाल के दिनों में नस्लीय असमानता पर वैश्विक डिबेट के कारण सामाजिक दबाव बढ़ने के चलते कंपनी ने यह फैसला किया है इसने अपने सबसे प्रसिद्ध प्रोडक्ट –फेयर एंड लवली क्रीम का नाम चेंज करने का निर्णय लिया है |

हिंदुस्तान यूनिलीवर (3)इसपे कई पॉपुलर सेलिब्रिटी बच्चे भी कमेंट किया | लेकिन आप समझ सकते हो जब पुराना समय था | ये सेलिब्रिटी ऐसी कंपनी का ऐड करते है और लाखों -करोड़ों कमाए | और जब पुरे वर्ल्ड में इसके खिलाफ आवाज उठी तो इन्होने अपना पाला बदल लिया और रही कंपनी के बात तो ये बस अपना प्रॉफिट देखती है |उन्हें समाज सेवा से कोई मतलब नहीं होता है | आपने ये कोरोना काल में थोड़ा -थोड़ा समझ ही गये होंगे |

जॉनसन एंड जॉनसन ने पहले कर ली थी तौबा –

दुनिया की कई बड़ी पर्सनल केयर कंपनियों की ओर से महिलाओं के लिए फेयरनेस प्रोडक्ट बनाती हैं। इनमें यूनीलिवर, प्रोक्टर एंड गैंबल, लोरिआल आदि कंपनियां शामिल हैं। ये कंपनियां फेयर एंड लवली, ओले एंड गार्नियर ब्रांड से फेयरनेस क्रीम की बिक्री करती हैं। फेयरनेस प्रोडक्ट्स की बिक्री पर नजर रखने वाली यूरोमॉनिटर इंटरनेशनल के मुताबिक पिछले साल पूरी दुनिया में 6277 टन स्किन लाइटनर क्रीम की बिक्री हुई थी|

हिंदुस्तान यूनिलीवर (2)

अभी कुछ दिनों पहले ही जॉनसन एंड जॉनसन ने भी अपने फेयर प्रोडक्ट ईस्ट , मिडिल ईस्ट , बिक्री बंद करने का फैसला किया है| ये एक बाज़ारवाद का अच्छा उदहारण है | लेकिन समाज में इसको ही बढ़ावा दिया जाता है | खूबसूरती का अपना मापदंड लोगों ने तय किया है | और सबसे पहले हमे खुद ही जागरूक होना होगा | नहीं तो ये कंपनी अपना प्रोडक्ट बेच ही रही चाहे इस नाम से या उस नाम से |

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते हैं:-जगन्नाथ रथ यात्रा आखिर है क्या?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here