Bharti singh weight loss diet। भारती सिंह ने क्या ली डाइट और घटाए 15 किलो वजन –

0
130
Bharti singh weight loss

Bharti singh weight loss in 2021। भारती सिंह का वेट लॉस का राज –

Bharti singh weight loss खबर ऐसे हुई वायरल जैसे लगा क्या हो गया। हम भी उस आगे बढ़ते हुए आपको बताने क्या प्रयास करेंगे। भारती सिंह को कौन नहीं जनता उन्होंने अपने कॉमेडी स्टाइल से सबको दीवाना बना रखा है। कई तरह के कॉमेडी शो करती है।लेकिन लोगों उन्हें थोड़ा वजनी ही देखा है लेकिन इधर बीच जब लोगों ने उन्हें देखा तो चकित हो गये। उन्होंने अपना वेट अच्छा-खासा गिरा लिया और स्लिम दिखने लगी। और लोग उनके Bharti singh weight loss diet के बारे में जानने के इच्छुक दिखाई दिए।

जब उनसे एक साक्षात्कार पूछा गया की – Bharti singh weight loss diet के बारे में सब जानना चाहते है तो उन्होंने बताया की ये सब मेरे इंटरमिटेंट फास्टिंग से हुआ है।अब कई लोग को ये क्या होता है इसका पता नहीं होगा।वो हम आपको आगे बताएँगे। उन्होंने ये भी कहा की मेरा वजन 91 किग्रा था और मैंने इंटरमिटेंट फास्टिंग से अपना 15 किलो वजन घटाया।

उनका कहना था, ”मेरा वज़न 91 किलोग्राम से 76 किलोग्राम हो गया है।अब मेरी सांस नहीं चढ़ती और हल्का-हल्का महसूस करती हूं।मेरा आस्थमा और डायबिटीज़ भी कंट्रोल में आ गए हैं। मैं इस समय इंटरमिटेंट फास्टिंग फॉलो कर रही हूं।मैं शाम को सात बजे से अगले दिन 12 बजे तक कुछ नहीं खाती हूं ”भारती सिंह जिस इंटरमिटेंट फास्टिंग की बात कर रही हैं तो सवाल है कि आख़िर ये होता क्या है। सेहतमंद रहने के लिए वज़न घटाना और हेल्दी लाइफस्टाइल ज़रूरी होता है।लेकिन कई बार लोग वज़न घटाने के चक्कर में ऐसे तरीके अपना लेते हैं जिससे वज़न घटने की बजाय बढ़ने लगता है या फिर उसके साइड इफेक्ट या दुष्प्रभाव होने लगते हैं।

इंटरमिटेंट फास्टिंग क्या होता है -(Bharti singh weight loss )

पहले के लोग ज़्यादातर लोग व्रत, उपवास या फास्टिंग के बारे में जानते हैं लेकिन इंटरमिटेंट फास्टिंग का मतलब होता है कुछ निश्चित घंटों तक भोजन ना खाना जॉन हॉपकिन्स मेडिसिन के मुताबिक कई डाइट इस बात पर निर्भर करती है कि क्या खाना है और क्या नहीं, लेकिन इंटरमिटेंट फास्टिंग ये बताती है कि आपको ‘कब’ खाना चाहिए। जॉन हॉपकिन्स मेडिसिन स्वास्थ के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था है।इटरमिटेंट फास्टिंग में आप एक दिन में सिर्फ़ निश्चित घंटों में खा सकते हैं जो आपके शरीर में जमी फैट या वसा को कम करने में सहायक हो सकता है।

इंटरमिटेंट फास्टिंग में एक निर्धारित समय पर आप खाना खा सकते हैं जिसमें एक दिन में कई घंटों तक ना खाना या एक हफ्ते में एक बार भोजना करना शामिल है जिससे आपकी शरीर में जमी फैट या वसा को कम करने में सहायक हो सकता है।जॉन हॉपकिन्स में न्यूरोसाइंटिस्ट मार्क मैटसन ने 25 साल तक इंटरमिटेंट फास्टिंग का अध्ययन किया है।

Weight loss deit (शरीर का विकास )-

हमारा शरीर इस तरह से विकसित हुआ है कि वे घंटों तक या कई दिनों या उससे लंबे समय तक बिना खाना खाए रह सकता है और वे उस समय का हवाला देते हैं जब मनुष्य ने खेती करना भी नहीं सीखा था, जब वो शिकारी हुआ करते थे जिन्होंने लंबे समय तक बिना खाना खाए भी जीवन जीना सीख लिया था। इंटरमिटेंट फास्टिंग के कई प्रकार हैं और डॉक्टर की सलाह पर ही इसे शुरू करना चाहिए।इसमें एक है 16/8 जिसमें आप दिन के 16 घंटे खाने से दूरी बनाए रखते हैं और बचे हुए आठ घंटों में खाना खाते हैं।उनके अनुसार ज़्यादातर लोग इस योजना को पसंद करते हैं क्योंकि वो लंबे समय तक इसे कर पाते हैं। आप भी समझ गये होंगे Bharti singh weight loss diet के बारे में आगे भी हम
इसके बारे में आपको बता रहे है।

आप ये भी पढ़ सकते है :-कीटो डाइट ने क्या एक भारतीय अभिनेत्री की जान ले ली ?

इंटरमिटेंट फास्टिंग का दूसरा प्रकार है 5/2 की योजना-

इस तरीके को अपनाते हुए आपको पांच दिन सामान्य डाइट लेनी होती है, लेकिन हफ्ते के किसी भी 2 दिन इतना ही भोजन करना है जिससे कि शरीर को 500 से 600 के बीच कैलोरी प्राप्त हो, उससे अधिक नहीं। इसमें ये ध्यान रखना चाहिए कि खाने में परहेज के 2 दिनों के बीच में एक सामान्य ईटिंग डे (सामान्य दिन की तरह खाना खाएं) ज़रूर होना चाहिए।

लेकिन वे सलाह देती हैं कि लंबे तक जैसे 24, 36, 48 और 72 घंटों तक ना खाना आपके शरीर के लिए ख़तरनाक हो सकता है क्योंकि इतने लंबे समय तक खाना ना खाने से भूख के कारण फैट जमा होनी शुरू हो जाती है। और जब आप खाना ना खा रहे हों तो डॉक्टर विल्यमस आपको पानी और ज़ीरो कैलोरी वाले पेय का सेवन करने की सलाह देती है जैसे ब्लैक कॉफी और चाय और सही और स्वस्थ खाने पर ज़ोर देती हैं।और इसी तकनिकी को अपनाने से Bharti singh weight loss transformation पा सकते है।

आप ये भी पढ़ सकते है :-प्लास्टिक सर्जरी:सुंदरता को भी अपना गुलाम बनाना

व्रत या कहे फास्टिंग ये पुरातन है –

मानव की इस परिस्थिति को अवगत कर त्रिकालज्ञ और परहित में रत ऋषिमुनियों ने वेद, पुराण, स्मृति और समस्त निबंधग्रंथों को आत्मसात् कर मानव के कल्याण के हेतु सुख की प्राप्ति तथा दु:ख की निवृत्ति के लिए अनेक उपाय कहे हैं। उन्हीं उपायों में से व्रत और उपवास श्रेष्ठ तथा सुगम उपाय हैं। व्रतों के विधान करनेवाले ग्रंथों में व्रत के अनेक अंगों का वर्णन देखने में आता है।उन अंगों का विवेचन करने पर दिखाई पड़ता है कि उपवास भी व्रत का एक प्रमुख अंग है।इसीलिए अनेक स्थलों पर यह कहा गया है कि व्रत और उपवास में परस्पर अंगागि भाव संबंध है।अनेक व्रतों के आचरणकाल में उपवास करने का विधान देखा जाता है।

ये पद्धति हमारे यहाँ बहुत पहले से है अब पश्चिमी लोग इसमें कई तरह की चीजें जोड़कर इसे weight loss से जोड़ दे रहे है। पहले के लोगों में व्रत या फास्टिंग, धर्म का साधन माना गया है।संसार के समस्त धर्मों ने किसी न किसी रूप में व्रत और उपवास को अपनाया है।भारतीय संस्कृत में व्रत कहे या कहे फास्टिंग पहले से ही मौजूद है उसी तरह इस्लाम में भी रोज़ा का प्रवधान है। इन्ही चीजें को जब ये सेलब्रिटी अपनाते है तो आजकल के लोग जिज्ञासु होते है की आखिर Bharti singh weight loss कैसे किया। इसलिए कहा गया है की भविष्य का समाधान भूत में है। और इसीलिए Bharti singh weight loss news तुरंत ही वायरल हो जाती है। सबको जानना है।

आप इसे पढ़ना भी पसंद कर सकते हैं:-ब्लैक वाटर क्या है और भारतीय सेलिब्रिटी में क्यों हो रहा है फेमस ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here